कलेक्टर डॉ रवि मित्तल ने जीवनदीप समिति की ली बैठक जिला अस्पताल में 25 अप्रैल को थायराइड शिविर का किया जाएगा आयोजन जिला अस्पताल में फिजियोथेरेपी की सेवा की गई शुरू

जशपुरनगर आज कलेक्टर डॉ. रवि मित्तल ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में स्वास्थ्य विभाग की जीवनदीप समिति की बैठक ली और विभिन्न मुदों पर विस्तार से चर्चा किया। इस अवसर पर एसडीएम सुश्री श्यामा पटेल, डिप्टी कलेक्टर श्री प्रशांत कुशवाहा, मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी श्री रंजीत टोप्पो, समाज सेवक श्री अजय गुप्ता, श्री योगेश सिंह, श्रीमती निर्मला जांगड़े, संबंधित विभाग के अधिकारी तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।कलेक्टर डॉ. रवि मित्तल ने समीक्षा के दौरान पिछले बैठक में लिए गये निर्णय-निर्देशों पर चर्चा की, आय-व्यय, बायोमेडिकल वेस्ट व कचरे का डिस्पोजल, फिजियोथेरेपी कक्ष के संचालन की भी जानकारी ली। उन्होंने सफाई व्यवस्था की जानकारी ली एवं साफ सफाई नियमित करने के लिए कहा तथा वार्ड क्रमांक 15 के जाम हुए नाली को नगर पालिका अधिकारी को आवश्यक जांच कर ठीक करने के निर्देश दिए तथा ग्रामीण स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी को वास्तव की स्थिति का जायजा लेकर मरम्मत करने के निर्देश दिए।
    कलेक्टर ने चिकित्सालय में कलर कोडेड चादर बिछाए जाने, ऑक्सीजन जनरेटर प्लांट हेतु ट्रांसफार्मर स्थापना, लैब में अत्यधिक भीड़ होने के कारण अतिरिक्त शेड निर्माण, जिला चिकित्सालय जसपुर में सिटी स्कैन स्थापना, ब्लड कंपोनेंट सेपरेटर स्थापना, नवीन शौचालय निर्माण, तीन जनरेटर सर्विसिंग, सीसीटीवी कैमरा सुधार किए जाने, छत मरम्मत, नवीन एंबुलेंस के संबंध में चर्चा किए। उन्होंने जनरेटर सर्विसिंग करने, कैमरा सुधार कराने एवं छत मरम्मत करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने जिला चिकित्सालय में आइसोलेशन हेतु ऑक्सीजन प्लांट एवं खराब हुए नल को परिवर्तन करने के निर्देश दिए। उन्होंने ने 25 अप्रैल को आयोजित थायराइड शिविर हेतु किए जा रहे तैयारियों की जानकारी ली तथा जरूरतमंद लोगों को बेहतर चिकित्सा उपलब्ध कराने के लिए प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए तथा पीड़ित व्यक्ति  सर्जरी के लिए विशेषज्ञ सर्जन डॉक्टरों की उपलब्धता सुनिश्चित करने कहा।

           जिला चिकित्सा अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला अस्पताल में फिजियोथेरेपी की सेवा शुरू की गई हैं। वर्तमान में पुनः सुचारू रूप से संचालन किया जा रहा है।